अनमोल बाते# जागृति # प्रेरणादायी # परिवार और रिश्ते # Quotes #

1. ✍️दूसरों को समझना बुद्धिमानी है

खुद को समझना असली ज्ञान है

2. ✍️दूसरों को काबू करना बल है

और खुद को काबू करना वास्तविक शक्ति है

✍️जिसने संसार को बदलने की कोशिश की वो हार गया

और जिसने खुद को बदल लिया वो जीत गया

3. मतलबी रिश्तों की बस इतनी सी कहानी है

अच्छे वक़्त में मेरी खूबियां और बुरे वक़्त में मेरी कमियाँ

गिनानी है

4. यदि दूसरों से उम्मीद कम खुद पर भरोसा

ज्यादा हो तो जिन्दगी हल्की महसूस होगी

5. बेकार है कोई भी वोरिश्ता

जहॉयकीनऔरइज्जतना हो

6. घर के बाहर दिमाग लेकर जाओ

क्योंकि दुनिया एक बाज़ार है

लेकिन घर के अंदर सिर्फ दिल लेकर जाओ

क्योंकि वहाँ एक परिवार है

7. परिवार के साथ धैर्य रखें तोप्यारकहलाता है

दूसरो के साथ धैर्य रखें तोसम्मानकहलाता है

खुद के साथ धैर्य रखें तोआत्मविश्वासकहलाता है

वही भगवान के साथ धैर्य हो तोआस्थाकहलाता है

8. लोहा नरम होकर औजार बन जाता है
सोना नरम होकर जेवर बन जाता है
मिट्टी नरम होकर खेत बन जाती है

आटा नरम होता है तो रोटी बन जाती है

अधिकांश रिश्तों में इंसान की अकड़ से पकड़ ख़त्म हो जाती है और नरम होने से सही आकार मिलता है

ठीक इसी तरह इन्सान भी नरम हो जाए तो,

लोगों के दिलों में अपनी जगह बना लेता हैं

अकड़ से हमेशा पकड़ ख़त्म हो जाती है

और नरम होने से सही आकार मिलता है

9. जीवन बहुत छोटा है उसे मन भर के जियो

प्रेम दुर्लभ है ,उसे पकड़ कर रखो

अहम और वहम जीवन को नष्ट कर सकते है , उसे छोड़ दो

क्रोध बहुत ख़राब है ,उसे शांत करने की कोशिश करो

भय बहुत भयानक है ,उसका सामना करो

स्मृतियाँ बहुत सुखद है ,उन्हें संजोकर रखोगे

अगर आपके पास मन की शांति है तो समझ लेना आपसे अधिक भाग्यशाली कोई नहीं है

10. रिश्ते मन से बनते हैं बातो से नही

कुछ लोग बहुत सी बातों के बावजूद भी अपने नहीं होते

और कुछ शांत रहकर भी अपने बन जाते है

विमला की क़लम से ✍️✍️