आज का मृदु विचार # प्रोत्साहन # जागृति # प्रेरणादायी # जागृति # Quotes #

1. जैसे पौधों को पानी देने से फूल खिलते है फलते फूलते है , पोषण होता है
वैसे ही स्नेह देने से आत्मा पवित्र होती है ,
प्रसन्न होती हैं , खिलती है ,फैलती है
विकसित होती है आत्मा का पोषण होता है

2. अच्छाई का भाव साफ़ मन में जन्म लेता है

और निःस्वार्थ भावना के साये में पनपता है

3. सहनशीलता स्वभाव नहीं अपितु संस्कार है

तराजू वज़न माप सकता है गुणवत्ता नहीं

4. अरमान उतने ही अच्छे है

जहॉ स्वाभिमान बेचने की जरूरत ना पड़े

5. “आशाऔरविश्वासकभी ग़लत नहीं होते

बस ये हम पर निर्भर करता है कि हमनेआशाकिससे की औरविश्वासकिस पर किया

6. जब जल गंदा हो तो उसे हिलाते नहीं बस शांत छोड़ देते हैं जिससे गंदगी अपने आप नीचे बैठ जाती है

इसी प्रकार जीवन में परेशानी आने पर बेचैन,अशांत होने के बजाय

शांत रह कर समस्या के समाधान पर विचार करें ,

हल जरूर निकलेगा

7. दिमाग ठंडा हो

दिल में रहम हो

जुबान नरम हो

ऑंखो में शर्म हो तो

सब कुछ आपका है

8. “सत्य” हमेशा जल में तेल की एक बूँद के समान होता है
आप कितना भी जल डालें , वह हमेशा ऊपर ही तैरता है

“सच्चाई” और “सच्चे सम्बन्ध” भी इसी तरह हमेशा कायम रहते हैं

9. ये सात गुण हर समय हमारा साथ निभाते है

ज्ञान , विनम्रता , बुद्धि , साहस ,

अच्छे कर्म , सच बोलने की आदत

और ईश्वर में विश्वास

10. सादगी परम सौंदर्य है

क्षमा उत्कृष्ट बल है

विनम्रता सबसे अच्छा तर्क है

और अपनापन सर्वश्रेष्ठ रिश्ता है

विमला की क़लम से ✍️✍️