कडवी बात #जागृति #जिन्दगी #प्रेरणादायी #Quotes #

1. ग़लत तरीक़े से कमाया हुआ धन पूरा भोग पाओगे के नहीं इसकी कोई खबर नहीं

लेकिन धन कमाने के लिए जो कर्म बांधे हैं वो तो पूरे ब्याज समेत भोगने ही पड़ेंगे

2. आखिर किस बात का घमंड है इंसान को ?

सुंदरता पर घमंडएक मामूली दुर्घटना में पलभर में ही इंसान की सुंदरता गायब हो जाती है यहॉ तक कि चमड़ी देखने लायक नहीं बचती

बदन पर घमंडजब इंसान को कोई ऐसा रोग हो जाता है जिसके कारण वो खुद उठ नहीं सकता हिलडुल नहीं सकता ,बार बार उसे सहारे की जरूरत पड़ती है।तब कहाँ जाता है उसका ये बदन

पैसे का घमंडकब इंसान का काम धंधा ठप्प जाये , राजा से रंक हो जाये ,पाई पाई का मोहताज हो जाये कहा नहीं जा सकता। फिर पैसो का कैसा घमंड

औलाद का घमंडबेटा या बेटी कोई ऐसा ग़लत कदम उठा ले जिससे सारा अहंकार धरा का धरा रह जाता है

पद का घमंडआपके साथ चलने वाले ,आपकी हाँ में हाँ मिलाने वाले दो ही पल में पलटी खा सकते है और आप किसी भी समय हीरो से जीरो हो सकते हो ,फिर पद का कैसा घमंड

3. जिन्दगी मे किसी को दोष देना जैसा कुछ नही है अच्छे लोग खुशियॉ लाते है

और बुरे लोग तजुर्बा दे जाते है

4. क्या बात है

कॉच के ऊपर पारा चढ़ाओ तो आईना बन जाता है

और आईना जिसको दिखाओ तो उसका पारा चढ़ जाता है

5. जिन्दगी की सच्चाई….

अकेला आया हूँ और अकेले ही जाना पड़ेगा

स्वार्थ सर्वोपरि है, ज्यादातर लोग हमारे साथ तभी है

जब उन्हें हमारी ज़रूरत है

किसी की ज़्यादा देखभाल करने पर अक्सर उसके चिड़चिड़ापन का शिकार होना पड़ेगा

किसी करीबी द्वारा बोला गया छोटा सा झूठ भी बहुत ज्यादा तक़लीफ़ दे सकता है

अपनो और परायो से प्यार करना किन्तु किसी से कोई उम्मीद नहीं रखना

वास्तविकता से ज्यादा अपनी कल्पनाओं के कारण दुखी होना

6. सर्दियों में जिस सूरज का इंतजार होता है

उसी सूरज का गर्मियों में तिरस्कार भी होता है

आपकी कीमत तब होगी जब आपकी जरूरत होगी

7. जब दर्द और कड़वी बोली दोनों सहन होने लगे

तो समझ लेना कि जीना गया

8. मुँह में ज़ुबान सब रखते हैं

मगर कमाल वो करते है जो उसे संभालकर रखते है

9. अच्छे इंसान सिर्फ़ और सिर्फ अपने कर्मो से जाने जाते है

वरना अच्छी बाते तो बुरे इंसान भी कर लेते है

10. कडवी गोलियाँ निगली जाती है चबाई नहीं जाती

अपमान , असफलता, तिरस्कार जैसी कडवी बातों को

चबाने की बजाय सीधा निगल जाये

उन्हें चबाते यानि याद करते रहेंगे तो

जीवन कडवा ही लगेगा

11.गलत समय पर बोलने से संबंध बिगड़ सकते है

गलत समय पर बोलने से भी संबंध बिगड़ सकते है

12. अपनी क़ीमत उतनी रखिये जितनी अदा हो सके

अगर अनमोल हो गये तो तन्हा हो जाओगे

खेल ताश का हो या जिन्दगी का

अपना इक्का तभी दिखाना जब सामने वाला बादशाह

निकाले

13. परिपक्वताइसमें नहीं है कि

आप कितना जानते हैं या कितनेशिक्षितहैं

बल्कि इसमें है कि आप किसी जटिल स्थिति से

शांति से निपटने में कितने सक्षम हैं

14. भरोसा कांच की तरह होता है

जो एक बार टूटने के बाद कितना भी ज़ोड लो

चेहरा अलग अलग ही नज़र आयेगा

15. कभी इसका दिल रखा,कभी उसका दिल रखा

इस आपाधापी में भूल गये कि खुद को कहॉ रखा

16. इतने नादान भी नहीं है कि कोई भी होशियारी करे

और हम समझे नही

चालाकियों सबकी समझ में आती है जनाब !!

बस बोलकर रिश्ता खराब नहीं करना चाहते

17. इंसान बिनामुहूर्तके पैदा होकर

जिन्दगी भरशुभ मुहूर्तके चक्कर में फँसा

एक दिन बिनामुहूर्तइस दुनियाँ सेअलविदाहो जाता है

18. आज के जमाने की ये कडवी सच्चाई है कि

लोग आपके बारे में कुछ अच्छा सुनते है तो शक करते है लेकिन कुछ बुरा सुनते है तो तुरंत यकीन कर लेते है

19. आज के जमाने की कडवी सच्चाई है

कहने को तो सभी बोलते है

अपने हिसाब से पूरी जिन्दगी जी लो

कल का क्या भरोसा

पर हक़ीक़त मे किसी किसी के दवाब से

अधिकांश लोग कहॉ जी पाते है

अपने अनुसार जीवन

20 . आज का कड़वा सच

सच्चे लोग आसानी से किसी केदिलमें उतनी जगह नहीं पाते ,

जितने केमतलबीऔरचापलूसलोग बना लेते है

विमला की क़लम से ✍🏼✍🏼