सुप्रभात #जागृति #प्रेरणादायी#have a good day#आज का दिन शुभ और मंगलमय हो #Quotes#

1. खिलना और मुरझाना ईश्वर के हाथ होता हैं लेकिन उस बीच महकना इंसान के हाथ होता है

मन की आंखो से रब का दीदार करो,

दो पल का है अन्धेरा बस सुबह का इन्तजार करो

क्या रखा है आपस के बैर मे यारो,

छोटी सी है ज़िंदगी बस हर किसी से प्यार करो

2. शक्कर को चाहे अंधेरे में या उजाले में खाये ,

मुँह मीठा ही होता है

उसी प्रकार अच्छे कर्म जाने या अनजाने हो ,

तो भी उसका फल मीठा ही होगा

3. अंधेरा वहां नहीं है, जहां तन गरीब है

अंधेरा वहां है, जहां मन गरीब है

4. भूमि और भाग्य का एक ही स्वभाव है

जो भी बोया है ,वो निकलना तय है

5. सृष्टि का एक नियम हैं

जो बांटोंगे वही आपके पास बेहिसाब होगा

फिर वह चाहे धन हो , अन्न हो ,सम्मान हो , अपमान हो

सुख हो या दुख हो ,नफरत हो या मोहब्बत

6. सबसे जिगरी दोस्त

सादा जीवन और शांत मन

7. अगर हमारा भाग्य भगवान लिखते तो

वह सबसे best भाग्य होता

हमारा भाग्य हमारे कर्म और हमारी मुक्त इच्छा से निमित्त होता है ,

भगवान की इच्छा से नही

8. चाहे कितनी भी मिठाइयां चखी हो

मगर खुशी के आँसू के मीठे स्वाद का कोई मोल नही

दवाए तो कीमत अदा करने पर मिल ही जाती हैं

पर साथ में दुआएँ मिल जाये तो काफ़ी है

7. हमेशा मुस्कुराते रहिये

मुस्कराना रामबाण औषधि है

सदाबहार फूलो की तरह है

जिससे हम अपना ईलाज स्वयं कर रहे होते हैं

मज़े की बात यह है कि इसका कोई साईड इफ़ेक्ट भी नही है

8. सबके दिलों का एहसास अलग होता है

इस दुनिया में सबका व्यवहार अलग होता है

आँखें तो सबकी एक जैसी ही होती हैं

पर सबका देखने का अंदाज़ अलग होता है

9. जिन्दगी को बैलेंस रखने के लिये कुछ बाते ….

अच्छे बनो पर किसी को फायदा मत उठाने मत दो

भरोसा करो लेकिन धोखा मत खाओ

संतुष्ट रहो लेकिन हमेशा अपने आप को improve करते रहो

10. परमात्मा की वाईफाई इतनी हाईफाई है जहॉ भी connect करो वही पर Network जाता है

उनकी कृपादृष्टि तो देखो इधर आपने मॉगना छोड़ा

उधर परमात्मा देने को व्याकुल हुये

11. इंसान के चरण यदि समर्थ होंगे तो मंदिर तक पहुँचना आसान होगा
लेकिन आचरण स्वस्थ होगा तो भगवान के क़रीब पहुँचना आसान होगा

12. दो तरह के लोगों पर विश्वास ज़रा सोचकर कीजिये

एक वो लोग जो आप में वहकमीबताये जो आप में है ही नही

दूसरे वो लोग जो आप में वहखूबीबताये जो आप में है ही नही

13. अपनी गलती को स्वीकारना झाड़ू लगाने के समान थोड़ा मुश्किल तो ज़रूर है

लेकिन यह खुद को चमकदार साफ ज़रूर कर देती है

14. सरलता से बढ़कर कोई स्वभाव नही

मधुरता से बढ़कर कोई बोल नही

संतुष्टि से बढ़कर कोई सुख नही

चरित्र से बढ़कर कोई सुंदरता नही

मानवता से बढ़कर कोई गुण नही,

आत्मविश्वास से बढ़कर कोई बल नही

रिश्ते,मित्र हर जगह पाये जाते है

15. किन्तु जहॉ परप्यारआदरके साथरिश्तोमेंपारदर्शिताहोती है वही पर ठहरते है

16. “उम्मीदरखना है तो

संसार रचने वालेसे रखो

संसारसे नही

17. नदी का पानी मीठा होता है क्योंकि वो देती रहती है

सागर का पानी खारा होता है क्योंकि वो हमेशा लेता रहता है

नाले का पानी हमेशा दुर्गंध देता है क्योंकि वह रूका हुआ होता है

यही जिन्दगी है

देने की प्रवृत्ति होगी तो सबको मीठे लगेंगे

लेने की प्रवृत्ति होगी तो खारे लगेंगे

अगर रूक गये तो सबको बेकार लगेंगे

18. अच्छी सोच

अच्छे विचार

और अच्छी भावना

मन को प्रफुल्लित और हल्का करती है

19. यदि सफलता एक सुंदर फूल है

तो मेहनत उसका खाद पानी है

इंसानियत उसकी जड़ें हैं

और विनम्रता उसकी सुगंध है

दोस्तो जिन्दगी मे जो चाहे वो हासिल करो

लेकिन इस बात का ज़रूर ख़्याल रखना कि आपके मंजिल का रास्ता लोगों के दिलों को तोड़ता हुआ गुजरे

20. मिठास मे शक्कर का ,नमकीन मे नमक का

और संसार मे सम्पत्ति का जो स्थान है

वही स्थान अध्यात्म मे परमात्मा से मिलन का है

जितना दुख आता है ,वह इंसान को उतना ही रब के क़रीब लाता है

विमला की क़लम से ✍🏼✍🏼