आज का उत्तम विचार # जागृति #प्रेरणादायी #प्रोत्साहन # रिश्ते #

1. मनुष्य की असली सम्पत्ति उसका हँसता खेलता परिवार,अच्छा स्वास्थ्य और शुभ चिन्तक दोस्त और स्वयं का संतुष्ट मन है  2. जीवन वो फूल है जिसमें कॉटे तो बहुत है लेकिन सौन्दर्य की भी कोई कमी नहीं चाहे तो कॉटे को कोसो , चाहे तो सौन्दर्य का आनंद लो 3. “प्यार” इंसान से करो…

आज का उत्तम विचार # परिवार और रिश्ते # जागृति # प्रेरणादायी # Quotes #

1. हमेशा ऐसे व्यक्ति को संभाल कर रखे जिसने आपको ये तीन भेंट दी हो साथ, समय और समर्पण 2. किसी का सरल स्वभाव होना उसकी कमजोरी नहीं बल्कि संस्कार है 3. क्यो डरे कि “जिन्दगी” में “क्या” होगा हर “वक्त” क्यों सोचें कि “बुरा” होगा बढते रहो “मंजिलो” की ओर कुछ न भी मिला…

आज का उत्तम विचार # परिवार और रिश्ते # जागृति # Quotes #

1. जहां गुंजाइशें हैं वहीं हर रिश्ता ठहरता है, आजमाइशें अक्सर रिश्ते तोड़ देती है 2. “अच्छे” और “बुरे समय” दोनों को अलग अलग महत्व है “अच्छा समय” संसार को बताएगा कि आपकी “वास्तविकता” क्या है किंतु “बुरा समय” आपको बताएगा कि इस संसार की “वास्तविकता” क्या है 3.“सौन्दर्य” आपके “ध्यान” को आकर्षित करता है…

आज का उत्तम विचार # परिवार और रिश्ते # जागृति # प्रेरणादायी # Quotes #

1. ख़ुद को स्पेशल समझ का जीना शुरू कर दो क्योंकि भगवान ने कोई भी चीज़ फालतू नहीं बनायी है 2. सच बोलिये , उसमें विश्वास की ताक़त होती है झूठा व्यक्ति यदि सच भी बोलता है तो उस पर कोई यकीन नही करता … यही उसकी सजा होती है 3. वक़्त गुज़र जाता है…

आज का उत्तम विचार # जागृति # प्रेरणादायी # Quotes #

1. बासी खाने से ज्यादा बासी विचार नुकसान करते है बासी खाना पेट को खराब करता है लेकिन बासी विचार पूरे शरीर को खराब करता है 2. विश्वास वह ताक़त है जिससे उजड़े हुये आशियाना भी बसा सकते हैं 3. ख़ुशनसीब है वो जो दिल मे किसी को जगह देते हैं अपना दर्द छुपाकर भी…

आज का उत्तम विचार # जागृति # प्रेरणादायी # Quotes #

1. चापलूसी का ज़हरीला प्याला आपको तब तक नुक़सान नहीं पहुँचा सकता जब तक कि आपके कान उसे अमृत समझकर पी न जाए 2. निंदा करना roaming की तरह हैकरो तो भी charge लगता है औरसुनो तो भी charge लगता है ।भलाई करना life insurance की तरह है जिंदगी के साथ भी ,जिंदगी के बाद…

आज का उत्तम विचार # सकारात्मक सोच # प्रेरणादायी # जागृति # Quotes #

1. बात अच्छी है तो उसकी हर जगह चर्चा करो और अगर बुरी है तो दिल में रखो फिर उससे अच्छा करो 2. दुआ शब्दों से नहीं दिल से होनी चाहिए क्योंकि ईश्वर उनकी भी सुनता है जो बोल नहीं पाते 3. दूसरों के सहारे चलो पर अपने पैरों की ताकत कम मत करो दुसरों…