ज्ञान की बात # जागृति # Quote #

इंसान के अंदर जो समा जायें वो स्वाभिमान, और जो इंसान के बाहर छलक जायें वो अभिमान आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏